Lord Krishna enlighten Karna | श्रीकृष्ण कर्ण संवाद

1269
Krishna enlighten Karna

Mahabharat Lord Krishna enlighten Karna story in Hindi from Mahabharat (2013) TV serial of Star Plus. Music composed by Ajay Gogavale and Atul Gogavale. Mahabharat song from Mahabharat 2013 historical Indian television series based on the ancient Sanskrit epic Mahabharat and telecast on StarPlus

Music Director :Jitesh Panchal, Lenin Nandi, Sushant Pawar
StoryLord Krishna enlighten Karna
Producers :Siddharth Kumar Tewary and Rahul Kumar Tewary
TV Show :Mahabharat (2013)
Editor :Paresh Shah
Narrated by :Saurabh Raj Jain
Genres :Mythology
Original release :16 September 2013 – 16 August 2014
Production company :Swastik Productions
Directed by :Siddharth Anand Kumar, Amarprith G, Mukesh Kumar Singh, Kamal Monga, Loknath Pandey
Original network :Star Plus

महाभारत श्रीकृष्ण कर्ण अंतिम संवाद – Lord Krishna enlighten Karna

नमस्कार दोस्तों इस कहानी में हम भगवान् श्रीकृष्ण और कर्ण के बीच हुए वार्तालाप प्रस्तुत करेंगे जो अब तक का सर्वश्रेष्ठ संवाद कहा जाता है!

अंतिम समय में कर्ण ने भगवान श्रीकृष्ण से पूछा- हे केशव मेरी माँ ने मुझे जन्म देते ही त्याग दिया क्या ये मेरा अपराध था ? की मेरा जन्म एक अवैध बच्चे के रूप में हुआ था
द्रोणाचार्य ने मुझे शिक्षा देने से मना कर दिया क्योकि वो मुझे क्षत्रिय नहीं मानते थे

मुझे द्रोणाचार्य से शिक्षा नहीं मिली क्योंकि मुझे क्षत्रिय नहीं माना गया ।

परशुराम ने मुझे सिखाया लेकिन फिर मुझे झूठ बोलने की सज़ा के रूप में सब कुछ भूल जाने का श्राप दे दिया, लेकिन मुझे उस समय भी पता नहीं था कि मैं एक क्षत्रिय था।

एक गाय गलती से मेरे तीर का निशाना बन गई थी और उसके मालिक ने मुझे बिना किसी दोष के श्राप दे दिया

मुझे द्रौपदी के स्वयंवर में अपमानित होना पड़ा।

यहाँ तक कि मेरी माता कुंती ने भी अपने बाकी बेटों को बचाने के लिए ही आखिरकार मुझसे सच कहा ।

मुझे जो कुछ भी मिला वह दुर्योधन के दान के माध्यम से मिला था। तो मैं उसका पक्ष लेने में कैसे गलत हूँ? ”

कर्ण की बाँट सुनकर भगवान् श्रीकृष्ण ने कहा,“कर्ण, मैं एक कारागार में पैदा हुआ था।

मृत्यु मेरे जन्म से पहले ही मेरी प्रतीक्षा कर रही थी। जिस रात मेरा जन्म हुआ था, मैं अपने जन्म देने वाले माता-पिता से अलग हो गया था।

बचपन से ही आप तलवारों, रथों, घोड़ों, धनुष और तीरों का शोर सुनकर बड़े हुए थे। लेकिन मुझे चलने से पहले ही गाय के झुंड, गोबर मिले | मेरी हत्या करने के कई सारे प्रयास किए गए।

Lord Krishna enlighten Karna in Hindi – Mahabharat

मैं लोगों को यह कहते हुए सुन सकता था कि मैं उनकी सभी समस्याओं का कारण हूं।

जब आप सभी अपने शिक्षकों द्वारा अपनी वीरता के लिए सराहे जा रहे थे,

मुझे अपने पूरे समुदाय को जरासंध से बचाने के लिए यमुना के तट से दूर समुद्र के किनारे तक जाना पड़ा। मुझे भाग जाने के लिए रणछोर कहा गया

और अगर दुर्योधन युद्ध जीतता है तो आपको बहुत सारा श्रेय मिलेगा।धर्मराज युधिष्ठिर के युद्ध जीतने पर मुझे क्या मिलेगा? केवल और केवल युद्ध और सभी संबंधित समस्याओं का दोष।

एक बात याद रखना कर्ण…। हर किसी के जीवन में अपनी चुनौतियां होती हैं।

किसी का जीवन गुलाब के फूलों से सज़ा नहीं होता है।

दुर्योधन के जीवन में भी चुनैतियाँ थी और युधिष्ठिर के जीवन में भी । लेकिन जो धर्म के अनुसार चलता हे वही सही है

कोई फर्क नहीं पड़ता कि हमें कितनी अनुचितता मिली, हमें कितनी बार अपमानित किया गया, कितनी बार हमें नकार दिया गया , कितनी बार हमारे अधिकारों से हमें वंचित किया गया, महत्वपूर्ण बात यह है कि उस समय आप कैसे प्रतिक्रिया करते हो

जीवन की सच्चाई आपको गलत रास्ते पर चलने का अधिकार नहीं देती है। “हमेशा याद रखें, जीवन कुछ बिंदुओं पर कठिन हो सकता है, लेकिन भाग्य हमारे पहने हुए जूतों द्वारा नहीं बनाया जाता है बल्कि हमारे द्वारा उठाए गए कदमों द्वारा बनाया जाता हे…”

श्रीकृष्ण कर्ण अंतिम संवाद महाभारत – Shree Krishna and Angraj Karna Samwad Mahabharat

Lord Krishna enlighten Karna : YouTube Video

श्रीकृष्ण कर्ण संवाद महाभारत धारावाहिक के कलाकार और किरदार

  • सौरभ राज जैन : श्री कृष्ण, भगवान् विष्णु के किरदार में
  • शहीर शेख : अर्जुन के किरदार में
  • पूजा शर्मा : द्रौपदी के किरदार में
  • अहम शर्मा : अंगराज कर्ण के किरदार में
  • अरव चौधरी : पितामह भीष्म के किरदार में
  • प्रणीत भट्ट : शकुनि के किरदार में
  • रोहित भारद्वाज : युधिष्ठिर के किरदार में
  • सौरव गुर्जर : महाबली भीम के किरदार में
  • अर्पित राँका : दुर्योधन के किरदार में
  • विन राणा : नकुल के किरदार में
  • लावण्य शर्मा : सहदेव के किरदार में
  • निसार खान : द्रोणाचार्य के किरदार में
  • पल्लवी सुभाष ; देवी रुक्मिणी के किरदार में

Conclution

Friends! If you like “Lord Krishna enlighten Karna” Lyrics then please do not forget to share it to your friends on social media. Your one share inspires us to bring you new song lyrics ahead stay tuned

If you want to lyrics of any of your favorite songs, feel free to tell us by writing in the comment box below.