राधाकृष्ण | कृष्ण वाणी – 15

1534
krishnavani radhakrishna 15

राधाकृष्ण | कृष्ण वाणी

संसार में सबसे बड़ी शक्ति क्या है?

अब आपमें से कुछ कहेंगे शस्त्र की कुछ कहेंगे शास्त्र की,
कोई कहेगा बुद्धि की तो कोई कहेगा बल की
किन्तु ये सब अधूरे है।
संसार में सबसे बड़ी शक्ति है मित्रता
यदि सच्ची मित्रता प्राप्त हो जाये तो वही सबसे बड़ा धन है।
जब आप कठिनाइयों में होंगे तो मित्रता शस्त्र बन कर सहायता करेगी।
मार्ग भटक जाओगे तो मित्रता शास्त्र बन कर आपको राह दिखाएगी।
षड्यंत्र में फंस जाओगे तो बुद्धि बन कर बाहर निकालेगी।
अकेले हो जाओगे तो ममता बन कर साथ निभाएगी।

तो यदि इस संसार में कुछ कमाना है तो धन नहीं,

मित्रता कमाओ और स्मरण रखियेगा
यदि इस संसार में मित्र बनाना आपकी सबसे
बड़ी दुर्बलता है तो आप इस संसार के सबसे शक्तिशाली प्राणी है।
राधे-राधे!