Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics | शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक

3393
Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics

Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics is from the 2017 mythological show Mahakali Anth Hi Aarambh Hai which aired on Colors TV. Saurabh Raj Jain as Shiva (Mahakaal) Pooja Sharma as Mahakali (Maa Parvati) played the lead roles in the show.

The show is produced by Siddharth Kumar Tewary under the Swastik Productions banner. You will find here Mahakaali – Anth Hi Aarambh Hai song lyrics in Hindi and English language.

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक का पाठ अक्सर दैनिक प्रार्थनाओं के एक भाग के रूप में या विष्णु पूजा के दौरान किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इससे भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त होता है और भक्त को शांति, सुरक्षा और शुभता मिलती है। यह श्लोक भगवान विष्णु के दिव्य गुणों और स्वरूप पर प्रकाश डालता है और उनके प्रति भक्ति और श्रद्धा व्यक्त करता है।

शान्ताकारं भुजगशयनं – Shantakaram Bhujagasayanam Song Detail :

स्वर / Singerजॉली दास, रोहित शास्त्री (Jolly Das, Rohit Shastri)
धारावाहिक / Serialमहाकाली – अंत ही आरंभ है (Mahakali — Anth Hi Aarambh Hai)
निर्देशक / Directorसिद्धार्थ कुमार तिवारी (Siddharth kumar Tewary)
शैली / Genreपौराणिक कथा (Mythology)
मूल प्रसारण / Original release22 जुलाई 2017 – 5 अगस्त 2018 (22 July 2017 –
5 August 2018)
लेखक / Written byविनोद शर्मा (Vinod Sharma)
Productionस्वास्तिक प्रोडक्शंस (Swastik Productions)
कलाकार / Castपूजा शर्मा, सौरभ राज जैन (Pooja Sharma, Saurabh Raj Jain)
निर्माता / Producersराहुल कुमार तिवारी, गायत्री गिल तिवारी (Rahul Kumar Tewary,
Gayatri Gill Tewary)
सृजनात्मक निर्देशक / Creative directorनितिन मथुरा गुप्ता (Nitin Mathura Gupta)
मूल भाषा / languageहिंदी (Hindi)

Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics in Hindi with Meaning

|| Om Namo Bhagwate Vasudevay ||
|| ॐ नमो भगवते वासुदेवाय ||

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं
विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्ण शुभाङ्गम् ।
लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यम्
वन्दे विष्णुं भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम् ॥

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक हिंदी अर्थ

  • शान्ताकारं – जिनकी आकृति अतिशय शांत है, वह जो धीर क्षीर गंभीर हैं,
  • भुजग-शयनं – जो शेषनाग की शैया पर शयन किए हुए हैं (विराजमान हैं),
  • पद्मनाभं – जिनकी नाभि में कमल है,
  • सुरेशं – जो ‍देवताओं के भी ईश्वर और
  • विश्वाधारं – जो संपूर्ण जगत के आधार हैं, संपूर्ण विश्व जिनकी रचना है,
  • गगन-सदृशं – जो आकाश के सदृश सर्वत्र व्याप्त हैं,
  • मेघवर्ण – नीलमेघ के समान जिनका वर्ण है,
  • शुभाङ्गम् – अतिशय सुंदर जिनके संपूर्ण अंग हैं, जो अति मनभावन एवं सुंदर है
  • लक्ष्मीकान्तं – ऐसे लक्ष्मीपति,
  • कमल-नयनं – कमलनेत्र (जिनके नयन कमल के समान सुंदर हैं)
  • योगिभिर्ध्यानगम्यम् – (योगिभिर – ध्यान – गम्यम्) – जो योगियों द्वारा ध्यान करके प्राप्त किए जाते हैं, (योगी जिनको प्राप्त करने के लिया हमेशा ध्यानमग्न रहते हैं)
  • वन्दे विष्णुं – भगवान श्रीविष्णु को मैं प्रणाम करता हूँ (ऐसे परमब्रम्ह श्री विष्णु को मेरा नमन है)
  • भवभय-हरं – जो जन्म-मरण रूप भय का नाश करने वाले हैं, जो सभी भय को नाश करने वाले हैं
  • सर्वलोकैक-नाथम् – जो संपूर्ण लोकों के स्वामी हैं, सभी चराचर जगत के ईश्वर हैं

Shantakaram Bhujagasayanam | Lord Vishnu Shantakaram Lyrics Meaning:

Shaanta-Aakaaram Bhujaga-Shayanam Padma-Naabham Sura-Iisham
Vishva-Aadhaaram Gagana-Sadrsham Megha-Varnna Shubha-Anggam|
Lakssmii-Kaantam Kamala-Nayanam Yogibhir-Dhyaana-Gamyam
Vande Vissnnum Bhava-Bhaya-Haram Sarva-Loka-Eka-Naatham ||

1: (Salutations To Sri Vishnu) Who Has A Serene Appearance, Who Rests On A Serpent (Adisesha), Who Has A Lotus On His Navel And Who Is The Lord Of The Devas,

2: Who Sustains The Universe, Who Is Boundless And Infinite Like The Sky, Whose Colour Is Like The Cloud (Bluish) And Who Has A Beautiful And Auspicious Body,

3: Who Is The Husband Of Devi Lakshmi, Whose Eyes Are Like Lotus And Who Is Attainable To The Yogis By Meditation,

4: Salutations To That Vishnu Who Removes The Fear Of Worldly Existence And Who Is The Lord Of All The Lokas.

Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics – शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक – Mahakali Ant Hi Arambh Hai

YouTube Video : Shantakaram Bhujagasayanam

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक” एक लोकप्रिय संस्कृत श्लोक (कविता) है जिसे अक्सर प्रार्थना या मंत्र के रूप में पढ़ा जाता है। यह भगवान विष्णु को समर्पित एक श्लोक है,

  • पूजा शर्मा : देवी महाकाली, पार्वती के किरदार में
  • सौरभ राज जैन : भगवान शिव, महाकाल, वीरभद्र , भैरव के किरदार में
  • कानन मल्होत्रा : भगवान विष्णु, भगवान कृष्ण के किरदार में
  • निकिता शर्मा : देवी लक्ष्मी के किरदार में
  • मेघन जाधव : भगवान कार्तिकेय के किरदार में
  • कृष चौहान : भगवान श्री गणेश के किरदार में
  • अभिषेक अवस्थी : नंदी के किरदार में
  • मनीष बिशला : देव-राज इंद्र के किरदार में
  • देबिना बनर्जी और रिंपी दास : देवी गंगा के किरदार में
  • फलक नाज़ : देवी सरस्वती के किरदार में

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक का पाठ कब करना चाहिए

  • मान्यता के अनुसार शान्ताकारं भुजगशयनं मंत्र का पाठ सुबह या शाम के वक्त किया जा सकता है
  • आप इसे शाम को पढ़ना चाहते हैं तो कम से कम अपने हाथ और पैर अच्छी तरह धो लें। और स्वच्छ कपडे पहनकर करे
  • शान्ताकारं भुजगशयनं मंत्र का पाठ आरम्भ करने से पहले सर्वपर्थम भगवान गणेश की वन्दना करें
  • शान्ताकारं भुजगशयनं मंत्र को पुरे मन से एक एक बॉल पर ध्यान देकर उच्चारण करे
  • हो सके तो ब्रह्म मुहूर्त में इस शान्ताकारं भुजगशयनं मंत्र का पाठ करे जिससे हमारी प्रार्थना सीधे पर्मात्मा तक पहुंचती है
Vedasara Shiva Stotram Lyricsवेदसारशिवस्तोत्रम् – पशूनां पतिं पापनाशं
Shiv Bilvashtakam Lyricsबिल्वाष्टकम् – त्रिदलं त्रिगुणाकारं
Mrityunjaya Stotram in Sanskritमहामृत्युंजय स्तोत्र हिंदी में
Shiv Tandav Stotram Lyricsशिव तांडव स्तोत्रम्
Shiva Panchakshar Stotra Lyricsशिव पंचाक्षर स्तोत्र अर्थ सहित
Mahamrityunjaya Mantraमहामृत्युंजय मंत्र
Aum Chantingॐ का अर्थ और महत्व
Om Purnamadah Purnamidamॐ पूर्णमद: पूर्णमिदं

FAQs For Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics

शांताराम भुजगाशयनम का अर्थ क्या है?

शांताकरम का अर्थ जिनकी आकृति अतिशय शांत है “शांति का अवतार”, वह जो धीर क्षीर गंभीर हैं भुजगशयनं का अर्थ जो शेषनाग की शैया पर विराजमान हैं यह यह मंत्र उपनिषदों से लिया गया यह प्राचीन वैदिक मंत्र विष्णु का आह्वान है

भगवान विष्णु जी को किसका स्वरुप माना जाता है?

पुराणों में भगवान विष्णु को विश्व या जगत का पालनहार कहा गया है

निष्कर्ष :

दोस्तो अगर आपको “Shantakaram Bhujagasayanam Lyrics – Lord Vishnu Mantra” पसंद है तो कृपया इसे अपने दोस्तों को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें। आपका एक शेयर हमें आपके लिए नए गाने के बोल लाने के लिए प्रेरित करता है

हमें उम्मीद है की श्रीहरि के भक्तो को यह शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक लिरिक्स वाला आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा।

अगर आप अपने किसी पसंदीदा गाने के बोल चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बेझिझक बताएं हम आपकी ख्वाइस पूरी करने की कोशिष करेंगे धन्यवाद!🙏 जय श्री कृष्ण 🙏