Shiva Panchakshar Stotra Lyrics | शिव पंचाक्षर स्तोत्र अर्थ सहित

1259
Shiva PanchAkshar Stotra Lyrics

Shiva Panchakshar Stotra : शिव पंचाक्षर स्तोत्र के रचयिता आदि गुरु शंकराचार्य हैं, जो परम शिवभक्त थे। शिवपञ्चाक्षर स्तोत्र पंचाक्षरी मन्त्र नमः शिवाय पर आधारित है। शिव पंचाक्षर स्तोत्र, जिसे “भगवान शिव के लिए पांच-शब्दांश भजन” के रूप में भी जाना जाता है, हिंदू धर्म में बहुत महत्व रखता है।

  • – पृथ्वी तत्त्व का
  • – जल तत्त्व का
  • शि – अग्नि तत्त्व का
  • वा – वायु तत्त्व का और
  • – आकाश तत्त्व का प्रतिनिधित्व करता है।

Shiva Panchakshar Stotra Detail:

स्तोत्र का नामशिव पंचाक्षर स्तोत्र
शिव पंचाक्षर स्तोत्र किसने लिखा ?आदि गुरु शंकराचार्य
संबंधितभगवान शिव
भाषासंस्कृत और हिंदी
सूत्रपुराण

शिव पंचाक्षर स्तोत्र हिंदी में अर्थ सहित – Shiva Panchakshar Stotra Lyrics in Hindi

नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांगरागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मै “न” काराय नमः शिवाय॥

हिंदी अर्थ : वे जिनके पास साँपों का राजा उनकी माला के रूप में है, और जिनकी तीन आँखें हैं,जिनके शरीर पर पवित्र राख मली हुई है और जो महान प्रभु है, वे जो शाश्वत है, जो पूर्ण पवित्र हैं और चारों दिशाओं को जो अपने वस्त्रों के रूप में धारण करते हैं,उस शिव को नमस्कार, जिन्हें शब्दांश “न” द्वारा दर्शाया गया है

मंदाकिनी सलिल चंदन चर्चिताय नंदीश्वर प्रथमनाथ महेश्वराय।
मंदारपुष्प बहुपुष्प सपूजिताय तस्मै “म” काराय नमः शिवाय॥

हिंदी अर्थ : वे जिनकी पूजा मंदाकिनी नदी के जल से होती है और चंदन का लेप लगाया जाता है,वे जो नंदी के और भूतों-पिशाचों के स्वामी हैं, महान भगवान,वे जो मंदार और कई अन्य फूलों के साथ पूजे जाते हैं,उस शिव को प्रणाम, जिन्हें शब्दांश “म” द्वारा दर्शाया गया है

शिवाय गौरी वदनाब्जवृंद सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय।
श्री नीलकंठाय वृषध्वजाय तस्मै “शि” काराय नमः शिवाय॥

हिंदी अर्थ : वे जो शुभ है और जो नए उगते सूरज की तरह है, जिनसे गौरी का चेहरा खिल उठता है, वे जो दक्ष के यज्ञ के संहारक हैं, वे जिनका कंठ नीला है, और जिनके प्रतीक के रूप में बैल है, उस शिव को नमस्कार, जिन्हें शब्दांश “शि” द्वारा दर्शाया गया है

वशिष्ठ कुम्भोद्भव गौतमार्य मुनींद्र देवार्चित शेखराय।
चंद्रार्क वैश्वानर लोचनाय तस्मै “व” काराय नमः शिवाय॥

हिंदी अर्थ : वे जो श्रेष्ठ और सबसे सम्मानित संतों – वशिष्ट, अगस्त्य और गौतम, और देवताओं द्वारा भी पूजित है, और जो ब्रह्मांड का मुकुट हैं, वे जिनकी चंद्रमा, सूर्य और अग्नि तीन आंखें हों, उस शिव को नमस्कार, जिन्हें शब्दांश “वा” द्वारा दर्शाया गया है

यक्षस्वरूपाय जटाधराय पिनाकहस्ताय सनातनाय।
दिव्याय देवाय दिगंबराय तस्मै “य” काराय नमः शिवाय॥

हिंदी अर्थ : वे जो यज्ञ (बलिदान) का अवतार है और जिनकी जटाएँ हैं, जिनके हाथ में त्रिशूल है और जो शाश्वत हैं, वे जो दिव्य हैं, जो चमकीला हैं, और चारों दिशाएँ जिनके वस्त्र हैं,
उस शिव को नमस्कार, जिन्हें शब्दांश “य” द्वारा दर्शाया गया है

पंचाक्षरमिदं पुण्यं यः पठेत् शिव सन्निधौ।
शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते॥

हिंदी अर्थ : जो शिव के समीप इस पंचाक्षर का पाठ करते हैं,
वे शिव के निवास को प्राप्त करेंगे और आनंद लेंगे।

॥ इति श्रीमच्छंकराचार्यविरचितं श्रीशिवपञ्चाक्षरस्तोत्रं सम्पूर्णम् ॥

Shiva Panchakshar Stotra With Meaning – शिवपञ्चाक्षर स्तोत्र अर्थ सहित

Nagendraharaya Trilochanaya Bhasmangaragaya Mahesvaraya
Nityaya Suddhaya Digambaraya Tasmai Na Karaya Namah Shivaya

Meaning in English : My salutations to the letter “Na”, which is Shiva, Who wears as garland the king of snakes. Who has three eyes, Who wears ash all over Him, Who is the greatest Lord, Who is forever, Who is the cleanest, And who wears the directions themselves as a dress.

Mandakini Salila Chandana Charchitaya Nandisvara Pramathanatha Mahesvaraya
Mandara Pushpa Bahupushpa Supujitaya Tasmai Ma Karaya Namah Shivaya

Meaning in English : My salutations to the letter “Ma”, which is Shiva, Who is bathed by waters of ganges, Who applies sandal paste all over him, Who has Lord Nandi as his chiefton, Who is the greatest lord, And who is worshipped by Mandhara and many other flowers.

Shivaya Gauri Vadanabja Brnda Suryaya Dakshadhvara Nashakaya
Sri Nilakanthaya Vrshabhadhvajaya Tasmai Shi Karaya Namah Shivaya

Meaning in English : My salutations to the letter “Si”, which is Shiva, Who is peace personified, Who is like Sun to the Lotus face of Gauri, Who destroyed the fire sacrifice of Daksha, Who has a blue neck, And who has a bull in his flag.

Vashistha Kumbhodbhava Gautamarya Munindra Devarchita Shekharaya
Chandrarka Vaishvanara Lochanaya Tasmai Va Karaya Namah Shivaya

Meaning in English : My salutations to the letter “Va”, which is Shiva, Who is worshipped by great sages like, Vasishta, Agasthya, and Gautama, As also the devas, And who has sun, moon, and fire as his three eyes.

Yaksha Svarupaya Jatadharaya Pinaka Hastaya Sanatanaya
Divyaya Devaya Digambaraya Tasmai Ya Karaya Namah Shivaya

Meaning in English : My salutations to the letter “Ya”, which is Shiva, Who takes the form of Yaksha, Who has a tufted hair, Who is armed with a spear, Who is forever filled with peace, Who is godly, Who is the great God, And who wears the directions themselves as dress.

Panchaksharamidam Punyam Yah Pathechchiva
Sannidhau Shivalokamavapnoti Sivena Saha Modate

Meaning in English : Those who read these holy five letters great, In the temple of Shiva, Would go to the world of Shiva, And be forever happy with Him.

Iti Shri Machamkaracharya virchit Shri Shiva Panchakshara Stotram Sampurnam

शिव पंचाक्षर स्तोत्र के लाभ – Benefits of Shiva Panchakshar Stotra

शिव पंचाक्षर स्तोत्र, जिसे “भगवान शिव के लिए पांच-शब्दांश स्तोत्र” के रूप में भी जाना जाता है, भगवान शिव को समर्पित एक पवित्र प्रार्थना है। माना जाता है कि इस स्तोत्र का जाप करने से कई लाभ मिलते हैं, जिनमें शामिल हैं:

आध्यात्मिक शुद्धि: शिवपञ्चाक्षर स्तोत्र में पवित्र अक्षरों “न” “म:” “शि” “वा” “य” की पुनरावृत्ति मन, शरीर और आत्मा को शुद्ध करती है। यह नकारात्मक ऊर्जा को साफ करने में मदद करता है और आंतरिक शुद्धि को बढ़ावा देता है।

भक्ति संबंध: शिवपञ्चाक्षर स्तोत्र का भक्ति और ईमानदारी से जप करने से भगवान शिव के साथ गहरा संबंध स्थापित होता है। यह भक्त की आध्यात्मिक यात्रा को बढ़ाता है और परमात्मा के साथ उनके संबंध को मजबूत बनाता है।

विघ्नों का निवारण: शिव पंचाक्षर स्तोत्र का पाठ करने से जीवन में आने वाली बाधाओं और चुनौतियों का नाश होता है। यह कठिनाइयों को दूर करने और विभिन्न प्रयासों में सफलता प्राप्त करने के लिए भगवान शिव की कृपा और आशीर्वाद का आह्वान करता है।

आंतरिक शक्ति और शांति: शिव पंचाक्षर स्तोत्र का जाप करने से आंतरिक शक्ति और शांति की अनुभूति होती है। यह मन को शांत करने, तनाव कम करने और एक सामंजस्यपूर्ण स्थिति बनाने में मदद करता है।

चेतना की जागृति: शिव पंचाक्षर स्तोत्र को आध्यात्मिक जागृति का एक शक्तिशाली साधन माना जाता है। यह चेतना का विस्तार करने, आत्म-जागरूकता को गहरा करने और आत्म-साक्षात्कार की यात्रा को सुविधाजनक बनाने में मदद करता है।

संरक्षण और आशीर्वाद: माना जाता है कि इस स्तोत्र का जाप नकारात्मक प्रभावों, बुरी शक्तियों के खिलाफ ढाल के रूप में कार्य करता है और दिव्य आशीर्वाद और कृपा लाता है।

मुक्ति और आत्मज्ञान: शिव पंचाक्षर स्तोत्र को मुक्ति (मोक्ष) और आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त करने का साधन माना जाता है। यह साधकों को जन्म और मृत्यु के चक्र को पार करने और उनके वास्तविक स्वरूप का एहसास कराने में मदद करता है।

शिव पंचाक्षर स्तोत्र का महत्व – Importance of Shiva Panchakshar Stotra

शिव पंचाक्षर स्तोत्र, जिसे “भगवान शिव के लिए पांच-शब्दांश भजन” के रूप में भी जाना जाता है, हिंदू धर्म में अत्यधिक महत्व रखता है। इसके महत्व को उजागर करने वाले कुछ प्रमुख पहलू इस प्रकार हैं:

  • भगवान शिव के प्रति श्रद्धा: शिव पंचाक्षर स्तोत्र भगवान शिव के प्रति समर्पण और श्रद्धा की गहन अभिव्यक्ति है। यह भगवान शिव की सर्वोच्च प्रकृति और ब्रह्मांडीय चेतना के अवतार के रूप में उनकी भूमिका को स्वीकार करता है।
  • मंत्र की पवित्रता: स्तोत्र शक्तिशाली मंत्र “ओम नमः शिवाय” से बना है, जो हिंदू धर्म में सबसे व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले और पूजनीय मंत्रों में से एक है। माना जाता है कि इन पवित्र अक्षरों की पुनरावृत्ति भगवान शिव की दिव्य उपस्थिति का आह्वान करती है और आध्यात्मिक परिवर्तन की सुविधा प्रदान करती है।
  • मुक्ति और आत्म-साक्षात्कार: माना जाता है कि शिव पंचाक्षर स्तोत्र का जाप भक्त को मुक्ति (मोक्ष) और आत्म-साक्षात्कार की ओर ले जाता है। यह अहंकार को भंग करने में मदद करता है, मन को शुद्ध करता है, और चेतना की उच्च अवस्थाओं को जगाता है, अंततः परमात्मा के साथ मिलन की ओर ले जाता है।
  • विघ्न निवारण : स्तोत्र को जीवन में आने वाली बाधाओं और चुनौतियों से पार पाने का एक प्रभावी साधन माना जाता है। विश्वास और भक्ति के साथ शिव पंचाक्षर स्तोत्र का जाप करके, भक्त अपने आध्यात्मिक और सांसारिक मार्ग की बाधाओं को दूर करने के लिए भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।
  • आंतरिक परिवर्तन: शिव पंचाक्षर स्तोत्र के नियमित पाठ से आंतरिक परिवर्तन और व्यक्तिगत विकास होता है। यह मन को शुद्ध करता है, विनम्रता और वैराग्य जैसे गुण पैदा करता है और आध्यात्मिक जागृति को बढ़ावा देता है।
  • सांस्कृतिक और पारंपरिक महत्व: शिव पंचाक्षर स्तोत्र को हिंदू धार्मिक प्रथाओं के एक अभिन्न अंग के रूप में सदियों से पढ़ा और सम्मानित किया गया है। यह अक्सर धार्मिक समारोहों, त्योहारों और व्यक्तिगत भक्ति प्रथाओं के दौरान जप किया जाता है, जो इसके सांस्कृतिक और पारंपरिक महत्व में योगदान देता है।

शिव पंचाक्षर स्तोत्र के गहन आध्यात्मिक सार से वास्तव में लाभान्वित होने के लिए भक्ति, भाव और इसके महत्व की समझ के साथ शिव पंचाक्षर स्तोत्र का पाठ करना महत्वपूर्ण है।

Vedasara Shiva Stotram Lyricsवेदसारशिवस्तोत्रम् – पशूनां पतिं पापनाशं
Shiv Bilvashtakam Lyricsबिल्वाष्टकम् – त्रिदलं त्रिगुणाकारं
Mrityunjaya Stotram in Sanskritमहामृत्युंजय स्तोत्र हिंदी में
Shiv Tandav Stotram Lyricsशिव तांडव स्तोत्रम्
Karpur Gauram Mantraकर्पूर गौरं करुणावतारं मंत्र हिंदी
Mahamrityunjaya Mantraमहामृत्युंजय मंत्र
Aum Chantingॐ का अर्थ और महत्व
Om Purnamadah Purnamidamॐ पूर्णमद: पूर्णमिदं

FAQs For Shiva Panchakshar Stotra

  • शिव पंचाक्षर स्तोत्र की रचना किसने की?

    शिव पंचाक्षर स्तोत्र के रचयिता श्री आदि शंकराचार्य जी हैं

  • शिव पंचाक्षर मंत्र क्या है?

    इस शिवपञ्चाक्षर स्तोत्र के पाँचों श्लोकों में क्रमशः न, म, शि, वा और य है अर्थात् नम: शिवाय। यह पूरा स्तोत्र शिवस्वरूप है।
    – पृथ्वी तत्त्व का
    – जल तत्त्व का
    शि – अग्नि तत्त्व का
    वा – वायु तत्त्व का और
    – आकाश तत्त्व का प्रतिनिधित्व करता है

अंतिम बात :

दोस्तों कमेंट के माध्यम से यह बताएं कि “Shiva Panchakshar Stotra” वाला यह आर्टिकल आपको कैसा लगा | आप सभी से निवेदन हे की अगर आपको हमारी पोस्ट के माध्यम से सही जानकारी मिले तो अपने जीवन में आवशयक बदलाव जरूर करे फिर भी अगर कुछ क्षति दिखे तो हमारे लिए छोड़ दे और हमे कमेंट करके जरूर बताइए ताकि हम आवश्यक बदलाव कर सके | 

हमे उम्मीद हे की भक्तों यह आर्टिक्ल शिव पंचाक्षर स्तोत्र पसंद आया होगा | आपका एक शेयर हमें आपके लिए नए आर्टिकल लाने के लिए प्रेरित करता है | ऐसी ही कहानी के बारेमे जानने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे धन्यवाद ! 🙏