Breaking

बुधवार, 31 मार्च 2021

श्री कृष्ण द्वारा पुतना वध | putna Vadh shree krishna

श्री कृष्ण द्वारा पुतना वध 

कंस अपने राज्य में सभी नवजात बालकों की हत्या करवाने के आदेश दे देता है।कंस की सेना सभी नवजात बच्चों का वध करने के लिए चले जाते हैं 

जैसे हाई सेना को पता चलता है की गोकुल में भी एक बालक ने जन्म लिया है तो वो वह उसे मारने जाते हैं तो गोकुल के लोग सेना को पत्थर मार कर भाग देते हैं। 
putna Vadh shree krishna


कंस पुतना को श्री कृष्ण का वध करने के लिए बुलाता है। पुतना गोकुल में एक औरत का रूप धारण कर श्री कृष्ण के पास पहुँच जाती है और धोके से उन्हें अपनी गोद में माँग लेती है और उन्हें आशीर्वाद का बहाना करके अपना विष भरा दूध पिलाती है तो श्री कृष्ण उसके प्राण हर लेते हैं। 

ये सब देख यशोदा बेहोश हो जाती है होश में आने के बाद यशोदा मैया श्री कृष्ण को स्नेह करती हैं। नंदराय और गोकुल वासी मिलकर पुतना का दाह संस्कार कर देते हैं।

विष्णु भगवान पुतना की आत्मा को स्वर्ग में स्थान देते हैं क्योंकि मारने से पहले ही उन्होंने भगवान श्री कृष्ण को दूध पिला कर मातृत्व प्राप्त कर लिया था।

श्रीकृष्णा, रामानंद सागर द्वारा निर्देशित एक भारतीय टेलीविजन धारावाहिक है। मूल रूप से इस श्रृंखला का दूरदर्शन पर साप्ताहिक प्रसारण किया जाता था। 

यह धारावाहिक कृष्ण के जीवन से सम्बंधित कहानियों पर आधारित है। गर्ग संहिता , पद्म पुराण , ब्रह्मवैवर्त पुराण अग्नि पुराण, हरिवंश पुराण , महाभारत , भागवत पुराण , भगवद्गीता आदि पर बना धारावाहिक है सीरियल की पटकथा, स्क्रिप्ट एवं काव्य में बड़ौदा के महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग के अध्यक्ष डॉ विष्णु विराट जी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 

इसे सर्वप्रथम दूरदर्शन के मेट्रो चैनल पर प्रसारित 1993 को किया गया था जो 1996 तक चला, 221 एपिसोड का यह धारावाहिक बाद में दूरदर्शन के डीडी नेशनल पर टेलीकास्ट हुआ, रामायण व महाभारत के बाद इसने टी आर पी के मामले में इसने दोनों धारावाहिकों को पीछे छोड़ दिया था

Produced - Ramanand Sagar / Subhash Sagar / Pren Sagar 
निर्माता - रामानन्द सागर / सुभाष सागर / प्रेम सागर 
Directed - Ramanand Sagar / Aanand Sagar / Moti Sagar 
निर्देशक - रामानन्द सागर / आनंद सागर / मोती सागर 
Chief Asst. Director - Yogee Yogindar 
मुख्य सहायक निर्देशक - योगी योगिंदर 
Asst. Directors - Rajendra Shukla / Sridhar Jetty / Jyoti Sagar 
सहायक निर्देशक - राजेंद्र शुक्ला / सरिधर जेटी / ज्योति सागर 
Screenplay & Dialogues - Ramanand Sagar 
पटकथा और संवाद - संगीत - रामानन्द सागर 
Camera - Avinash Satoskar 
कैमरा - अविनाश सतोसकर 
Music - Ravindra Jain 
संगीत - रविंद्र जैन 
Lyrics - Ramanand Sagar 
गीत - रामानन्द सागर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें