ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र – Om Sarve Bhavantu Sukhinaha Mantra

2422
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र हिंदी अर्थ सहित - Om Sarve Bhavantu Sukhinaha

Om Sarve Bhavantu Sukhinaha: ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र कई लोगों को बोलते हुये सुना होगा, तो आपके मन में यह जरूर ख्‍याल आया होगा कि इस मंत्र का अर्थ क्‍या होतो है ॐ सर्वे वै सुखिनः सन्तु श्लोक को शांति पाठ या शांति मंत्र के रूप में जाना जाता है।

इस मंत्र का उच्चारण करने से यह इच्छा व्यक्त की जाती है कि सभी लोग सुखी हों, और उनके जीवन में संतोष, शांति, और प्रेम का अनुभव हो। यह मंत्र एक प्रार्थना के रूप में भी प्रयोग किया जा सकता है, जहां हम अन्यों के कल्याण की कामना करते हैं और सभी को सुखी बनाने की प्रार्थना करते हैं।

ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र हिंदी अर्थ सहित

सर्वे वैसभी जन
सुखिनःसन्तुसुखी हों
सर्वेसब
सन्तुरहें
निरामयानिरोगी
सर्वेसब
भद्राणिमंगलमय
पश्यन्तुदेखें
मा कश्चित्कभी नहीं
दुःखम्दुख
आप्नुयात्प्राप्त हों

ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र हिंदी अर्थ सहित – Om Sarve Bhavantu Sukhinaha Mantra

इस शान्ति पाठ का शाब्दिक अर्थ है कि हे भगवान! संसार के सभी प्राणी सुखी रहें, सभी प्राणी रोग आदि कष्‍टों से मुक्‍त रहें, संसार के सभी प्राणियों का जीवन मंगलमय हो और संसार का कोई भी प्राणी दुखी ना रहें। प्रभु ऐसी मेरी आपसे प्रार्थना है।

ॐ सर्वे वै सुखिनः सन्तु
सर्वे सन्तु निरामया:
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु
मा कश्चित् दुःखमाप्नुयात्
ॐ शांतिः शांतिः शांतिः

समस्त जीव उसी ब्रह्म की संताने है अपनी अज्ञानता के चलते वह एक ही पिता की संतानों में भेद कर अपने पिता को भूलकर मायाजाल में भ्रमित हो जाता हैं. अपनी इस भूल के चक्कर में वह कष्ट पाता भी है और अन्यों को कष्ट देता भी हैं. 

इस मंत्र का जाप या ध्यान करने से व्यक्ति में दया और निस्वार्थ भाव का विकास होता है। यह मतभेदों की परवाह किए बिना सभी प्राणियों के प्रति प्रेम, दया और सद्भावना बढ़ाने की याद दिलाता है। मंत्र सभी जीवित प्राणियों के बीच एकता और परस्पर जुड़ाव की भावना को प्रोत्साहित करता है।

यह मंत्र शांति और सहजता की भावना को स्थापित करने में मदद करता है और सभी के हित की कामना करता है।

Om Sarve Bhavantu Sukhinaha Meaning – ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र

Om Sarve Bhavantu Sukhinah।
Sarve Santu Nir-Aamayaah।
Sarve Bhadraanni Pashyantu।
Maa Kashcid-Duhkha-Bhaag-Bhavet॥
Om Shaantih Shaantih Shaantih॥

Om Sarve Bhavantu Sukhinaha English Translation:
May All Be Prosperous and Happy
May All Be Free from Illness
May All See What Is Spiritually Uplifting
May No One Suffer In Any Way
Om Peace, Peace, Peace

may every one be happy, may every one be free from all diseases may every one see goodness and auspiciousness in every thing, may none be unhappy or distressed Om peace, peace, peace!

This pacifying mantra is believed to be inspired by the Brihadaranyaka Upanishad verse 1.4.14. This mantra “Om Sarve Bhavantu Sukhinah” is a very spiritual mantra that I think everyone should know and chant.

Om Sarve Bhavantu Sukhinaha Mantra Gujarati – ૐ સર્વે ભવન્તુ સુખિન:

ૐ સર્વે ભવન્તુ સુખિન:।
સર્વે સન્તુ નિરામયા:।
સર્વે ભદ્રાણિ પશ્યન્તુ।
મા કશ્રિત્ દુ:ખ ભાગ્ભવેત્।।
ૐ શાન્તિ: શાન્તિ: શાન્તિ:।।

ભાવાર્થ:– સર્વ સુખી રહે,સર્વનું આરોગ્ય સ્વસ્થ રહે, સર્વને શ્રેષ્ઠતાની અનુભૂતિ થાય અને સર્વત્ર શાંતિ રહે.

Vedasara Shiva Stotram Lyricsवेदसारशिवस्तोत्रम् – पशूनां पतिं पापनाशं
Shiv Bilvashtakam Lyricsबिल्वाष्टकम् – त्रिदलं त्रिगुणाकारं
Mrityunjaya Stotram in Sanskritमहामृत्युंजय स्तोत्र हिंदी में
Shiv Tandav Stotram Lyricsशिव तांडव स्तोत्रम्
Shiva Panchakshar Stotra Lyricsशिव पंचाक्षर स्तोत्र अर्थ सहित
Mahamrityunjaya Mantraमहामृत्युंजय मंत्र
Aum Chantingॐ का अर्थ और महत्व
Om Purnamadah Purnamidamॐ पूर्णमद: पूर्णमिदं
  • What does Om Sarve Bhavantu Sukhinah mean?

    “Om Sarve Bhavantu Sukhinah”( ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन) is a Sanskrit mantra that translates to “May all beings be happy.” It is a universal prayer expressing the wish for the well-being and happiness of all living beings. The mantra emphasizes the idea of compassion, unity, and the interconnectedness of all individuals.
    Here’s a breakdown of the mantra:

    “Om”: A sacred and universal sound that represents the essence of the ultimate reality or the Supreme Being.
    “Sarve”: All or everyone.
    “Bhavantu”: May they be or let them be.
    “Sukhinah”: Happy or peaceful.

  • Where did the mantra Om Sarve Bhavantu Sukhinah from?

    The mantra “Om Sarve Bhavantu Sukhinah” ( ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन originates from ancient Hindu scriptures known as the Upanishads. This verse belongs to Brihadaranyaka Upanishad (1.4.14).

  • What is the benefit of Om Sarve Bhavantu Sukhinah?

    1. The mantra’s intention is to bring about the well-being and happiness of all beings, including oneself
    2. The repetition of the mantra generates positive vibrations and energy, which can have a purifying and uplifting effect on the mind and environment.
    3. The mantra promotes a sense of compassion and empathy towards all living beings.

निष्कर्ष

दोस्त! अगर आपको “Om Sarve Bhavantu Sukhinaha Mantra With Meaning” वाला यह आर्टिकल पसंद है तो कृपया इसे अपने दोस्तों को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें। आपका एक शेयर हमें आपके लिए नए गाने के बोल लाने के लिए प्रेरित करता है

हमे उम्मीद हे की भगवान शिव भक्तों यह ॐ सर्वे भवन्तु सुखिन मंत्र हिंदी अर्थ सहित पसंद आया होगा | अगर कुछ क्षति दिखे तो हमारे लिए छोड़ दे और हमे कमेंट करके जरूर बताइए ताकि हम आवश्यक बदलाव कर सके |

अगर आप अपने किसी पसंदीदा गाने के बोल चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बेझिझक बताएं हम आपकी ख्वाइस पूरी करने की कोशिष करेंगे धन्यवाद!