बजरंग बाण पाठ – जय हनुमंत संत हितकारी | Bajrang baan lyrics in Hindi

3374
बजरंग बाण पाठ - Bajrang baan lyrics

बजरंग बाण पाठ (Bajrang baan lyrics) शांत मन के साथ प्रभु के चरणों में समर्पित करते हुए पढ़ने से निश्चित ही लाभ होता हे | जय हनुमंत संत हितकारी सुन लीजै प्रभु अरज हमारी बजरंग बाण का पाठ करने से हनुमान जी की कृपा बनी रहती है तथा भय का नाश होता है |

बजरंग बाण का शाब्दिक अर्थ बजरंग बली या भगवान हनुमान का तीर है। हनुमान जी के बजरंग बाण की महिमा अपरंपार है।

बजरंग बान भगवान हनुमान जी को समर्पित एक शक्तिशाली पाठ है। यह माना जाता है कि यह महाकाव्य रामायण के लेखक तुलसिदास द्वारा रचित किया गया है, और आमतौर पर भक्तों द्वारा भगवान हनुमान के आशीर्वाद और संरक्षण की मांग की जाती है। यहां बजरंग बान के बारे में कुछ विवरण दिए गए हैं:

Jay Hanumant Sant Hitkari – Bajarang Baan Path Info :

Singer :Hariharan
Music :Lalit Sen, Chander
Album :Shree Hanuman Chalisa
Lyrics :Traditional
Label :T-Series
Genre :Bhakti
Language :Hindi

Bajrang Baan Lyrics in Hindi – बजरंग बाण पाठ : जय हनुमंत संत हितकारी

|| दोहा ||

निश्चय प्रेम प्रतीति ते, बिनय करैं सनमान।
तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्ध करैं हनुमान॥

|| चौपाई ||

जय हनुमंत संत हितकारी।
सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥

जन के काज बिलंब न कीजै।
आतुर दौरि महा सुख दीजै॥

जैसे कूदि सिंधु महिपारा।
सुरसा बदन पैठि बिस्तारा॥

आगे जाय लंकिनी रोका।
मारेहु लात गई सुरलोका॥

जाय बिभीषन को सुख दीन्हा।
सीता निरखि परमपद लीन्हा॥

बाग उजारि सिंधु महँ बोरा।
अति आतुर जमकातर तोरा॥

अक्षय कुमार मारि संहारा।
लूम लपेटि लंक को जारा॥

लाह समान लंक जरि गई।
जय जय धुनि सुरपुर नभ भई॥

अब बिलंब केहि कारन स्वामी।
कृपा करहु उर अंतरयामी॥

जय जय लखन प्रान के दाता।
आतुर ह्वै दुख करहु निपाता॥

जै हनुमान जयति बल-सागर।
सुर-समूह-समरथ भट-नागर॥

ॐ हनु हनु हनु हनुमंत हठीले।
बैरिहि मारु बज्र की कीले॥

ॐ ह्नीं ह्नीं ह्नीं हनुमंत कपीसा।
ॐ हुं हुं हुं हनु अरि उर सीसा॥

जय अंजनि कुमार बलवंता।
शंकरसुवन बीर हनुमंता॥

बदन कराल काल-कुल-घालक।
राम सहाय सदा प्रतिपालक॥

भूत, प्रेत, पिसाच निसाचर।
अगिन बेताल काल मारी मर॥

इन्हें मारु, तोहि सपथ राम की।
राखु नाथ मरजाद नाम की॥

सत्य होहु हरि सपथ पाइ कै।
राम दूत धरु मारु धाइ कै॥

जय जय जय हनुमंत अगाधा।
दुख पावत जन केहि अपराधा॥

पूजा जप तप नेम अचारा।
नहिं जानत कछु दास तुम्हारा॥

बन उपबन मग गिरि गृह माहीं।
तुम्हरे बल हौं डरपत नाहीं॥

जनकसुता हरि दास कहावौ।
ताकी सपथ बिलंब न लावौ॥

जै जै जै धुनि होत अकासा।
सुमिरत होय दुसह दुख नासा॥

चरन पकरि, कर जोरि मनावौं।
यहि औसर अब केहि गोहरावौं॥

उठु, उठु, चलु, तोहि राम दुहाई।
पायँ परौं, कर जोरि मनाई॥

ॐ चं चं चं चं चपल चलंता।
ॐ हनु हनु हनु हनु हनुमंता॥

ॐ हं हं हाँक देत कपि चंचल।
ॐ सं सं सहमि पराने खल-दल॥

अपने जन को तुरत उबारौ।
सुमिरत होय आनंद हमारौ॥

यह बजरंग-बाण जेहि मारै।
ताहि कहौ फिरि कवन उबारै॥

पाठ करै बजरंग-बाण की।
हनुमत रक्षा करै प्रान की॥

यह बजरंग बाण जो जापैं।
तासों भूत-प्रेत सब कापैं॥

धूप देय जो जपै हमेसा।
ताके तन नहिं रहै कलेसा॥

|| दोहा ||

उर प्रतीति दृढ़, सरन ह्वै, पाठ करै धरि ध्यान।
बाधा सब हर, करैं सब काम सफल हनुमान॥

बजरंग बाण पाठ के लाभ :

माना जाता है कि भगवान हनुमान को समर्पित बजरंग बाण एक शक्तिशाली पाठ हे निम्नलिखित बजरंग बाण पाठ से संबंधित लाभ दिए गए हे जैसे की

  • नकारात्मक बलों से सुरक्षा: भक्तों का मानना है कि प्रार्थना का नियमित पाठ उनके चारों ओर दिव्य ऊर्जा की एक ढाल बना सकता है, उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करता है और नकारात्मक प्रभावों को दूर कर सकता है।
  • बाधाओं पर काबू पाना: विश्वास और भक्ति के साथ बजरंग बाण का पाठ करना विभिन्न चुनौतियों और बाधाओं को दूर करने में मदद करता है, चाहे वे प्रकृति में शारीरिक, मानसिक या आध्यात्मिक हों।
  • उपचार और भलाई: कई भक्त भक्त अक्सर बजरंग बाण की ओर मुड़ते हैं जो शारीरिक और भावनात्मक बीमारियों से राहत की मांग करते हैं। यह माना जाता है कि प्रार्थना में उपचार की क्षमता है, जो समाज कल्याण और जीवन शक्ति को बढ़ावा देता है।
  • आध्यात्मिक विकास और भक्ति: बजरंग बाण पाठ भगवान हनुमान के साथ संबंध को गहरा करने और आध्यात्मिक विकास को बढ़ावा देने के साधन के रूप में कार्य करता है। ईमानदारी और भक्ति के साथ प्रार्थना का पाठ करके, भक्त आध्यात्मिक उत्थान और आंतरिक शांति के साथ एक घनिष्ठ बंधन की एक बढ़ी हुई भावना का अनुभव कर सकते हैं।
  • मानसिक स्पष्टता और फोकस: बजरंग बाण पाठ की लयबद्ध जप मन को शांत करने, एकाग्रता में सुधार करने और मानसिक स्पष्टता को बढ़ाने में मदद कर सकती है। माना जाता है कि यह ध्यान जागरूकता और माइंडफुलनेस की स्थिति लाता है, निर्णय लेने और समस्या-समाधान में सहायता करता है।
  • आशीर्वाद और अनुग्रह: भक्तों का मानना है कि बजरंग बाण का पाठ भाव और पूर्ण श्रद्धा से करने पर भगवान हनुमान के आशीर्वाद और अनुग्रह को आकर्षित कर सकता है। यह माना जाता है कि प्रार्थना जीवन के विभिन्न पहलुओं में दिव्य हस्तक्षेप, मार्गदर्शन और समर्थन ला सकती है, सकारात्मक परिणामों और आध्यात्मिक प्रगति को बढ़ावा दे सकती है।

बजरंग बाण का पाठ किसने लिखा था?

इसका सटीक उत्तर तो नहीं हे किन्तु मान्यताअनुसार बजरंग बाण में अवधी भाषा के शब्द हैं, स्वामी तुलसीदास जी की प्रमुख रचना रामचरित मानस भी अवधी भाषा में हैं, जिससे पता चलता है को स्वामी तुलसीदास जी ने लिखा है।

Mangal Murti Maruti Nandanमंगल मूर्ति मारुति नंदन
Jai Jai Jai Hanuman Gosaiजय जय जय हनुमान गोसाई
Aarti Kije Hanuman Lala Kiआरती कीजै हनुमान लला की
Sankatmochan Hanuman Ashtakसंकट मोचन हनुमानाष्टक
Hanuman Chalisaहनुमान चालीसा
Ramayan Songकांधे पर दो वीर बिठाकर चले
Radhakrishna Hanuman Themeजय हनुमान ज्ञान गुण सागर

बजरंग बाण का पाठ कब करना चाहिए

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बजरंग बाण का पाठ मंगलवार शनिवार के दिन अवश्य करना चाहिए
  • विपदा की घड़ी में भी बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए
  • विकट संकट में फंसे हों, सभी परिस्थितियों आपके विरुद्ध हों, उनसे निकलने का कोई भी मार्ग नहीं सूझ रहा हो, मनोबल टूट रहा हो, मन में डर और भय हो, तो ऐसे समय में बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए
  • जब आप कोई ऐसा कर रहे हे , जो आपके जीवन में विशेष है तब भी बजरंग बाण का पाठ करें।

बजरंग बाण : जय हनुमंत संत हितकारी | Bajarang Baan Path Lyrics by Hariharn – जय हनुमंत संत हितकारी

Bajarang Baan Lyrics from Hanuman Chalisa. Jay Hanumant Sant Hitkari Bajarang Baan Path sung by Hariharan and music by Lalit sen and Chander.

FAQs For Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari ❓

  1. Who is the singer of Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari Song ?

    Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari Song is sung by Hariharan

  2. Who is the music director of Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari song?

    Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari Song is composed by Lalit Sen and Chander

  3. Which album is the song Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari from?

    Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari is a hindi song from the album Hanuman Chalisa (Hanuman Ahstak)

  4. What is the duration of Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari Song ?

    The duration of the song Bajrang baan : Jay Hanumant Sant Hitkari is 7:46 minutes.

निष्कर्ष

दोस्त! अगर आपको “बजरंग बाण पाठ” Shree Hanuman Chalisa वाला यह आर्टिकल पसंद है तो कृपया इसे अपने दोस्तों को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें। आपका एक शेयर हमें आपके लिए नए गाने के बोल लाने के लिए प्रेरित करता है

हमे उम्मीद हे की हनुमान जी भक्तों यह Bajrang baan lyrics भजन पसंद आया होगा | अगर कुछ क्षति दिखे तो हमारे लिए छोड़ दे और हमे कमेंट करके जरूर बताइए ताकि हम आवश्यक बदलाव कर सके |

अगर आप अपने किसी पसंदीदा गाने के बोल चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बेझिझक बताएं हम आपकी ख्वाइस पूरी करने की कोशिष करेंगे धन्यवाद!
🙏 जय श्रीराम 🙏 जय बजरंगबली हनुमान

1 COMMENT