Breaking

बुधवार, 31 अक्तूबर 2018

Shantakaram Bhujagasayanam | Lord Vishnu Shantakaram Lyrics

Shantakaram Bhujagashayanam Prayer to Lord Vishnu

Om Namo Bhagwate Vasudevay
ॐ नमो भगवते वासुदेवाय II

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं श्लोक

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं
विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्ण शुभाङ्गम्
लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यम्
वन्दे विष्णुं भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्

शान्ताकारम भुजगशयनम पद्मनाभम सुरेशं हिंदी अर्थ

शान्ताकारं – जिनकी आकृति अतिशय शांत है, वह जो धीर क्षीर गंभीर हैं,

भुजग-शयनं – जो शेषनाग की शैया पर शयन किए हुए हैं (विराजमान हैं),

पद्मनाभं – जिनकी नाभि में कमल है,

सुरेशं – जो ‍देवताओं के भी ईश्वर और

विश्वाधारं – जो संपूर्ण जगत के आधार हैं, संपूर्ण विश्व जिनकी रचना है,

गगन-सदृशं – जो आकाश के सदृश सर्वत्र व्याप्त हैं,

मेघवर्ण – नीलमेघ के समान जिनका वर्ण है,

शुभाङ्गम् – अतिशय सुंदर जिनके संपूर्ण अंग हैं, जो अति मनभावन एवं सुंदर है

लक्ष्मीकान्तं – ऐसे लक्ष्मीपति,

कमल-नयनं – कमलनेत्र (जिनके नयन कमल के समान सुंदर हैं)

योगिभिर्ध्यानगम्यम् – (योगिभिर – ध्यान – गम्यम्) – जो योगियों द्वारा ध्यान करके प्राप्त किए जाते हैं, (योगी जिनको प्राप्त करने के लिया हमेशा ध्यानमग्न रहते हैं)

वन्दे विष्णुं – भगवान श्रीविष्णु को मैं प्रणाम करता हूँ (ऐसे परमब्रम्ह श्री विष्णु को मेरा नमन है)

भवभय-हरं – जो जन्म-मरण रूप भय का नाश करने वाले हैं, जो सभी भय को नाश करने वाले हैं

सर्वलोकैक-नाथम् – जो संपूर्ण लोकों के स्वामी हैं, सभी चराचर जगत के ईश्वर हैं
Shantakaram Bhujagashayanam



Shaanta-Aakaaram Bhujaga-Shayanam Padma-Naabham Sura-Iisham
Vishva-Aadhaaram Gagana-Sadrsham Megha-Varnna Shubha-Anggam|
Lakssmii-Kaantam Kamala-Nayanam Yogibhir-Dhyaana-Gamyam
Vande Vissnnum Bhava-Bhaya-Haram Sarva-Loka-Eka-Naatham ||

Mahakali Ant Hi Arambh Hai Vishnu Music Vishnu Mantra Shantakaram Bhujagasayanam



Shantakaram Bhujagasayanam | Lord Vishnu Shantakaram Lyrics Meaning:

1: (Salutations To Sri Vishnu) Who Has A Serene Appearance, Who Rests On A Serpent (Adisesha), Who Has A Lotus On His Navel And Who Is The Lord Of The Devas,

2: Who Sustains The Universe, Who Is Boundless And Infinite Like The Sky, Whose Colour Is Like The Cloud (Bluish) And Who Has A Beautiful And Auspicious Body,

3: Who Is The Husband Of Devi Lakshmi, Whose Eyes Are Like Lotus And Who Is Attainable To The Yogis By Meditation,

4: Salutations To That Vishnu Who Removes The Fear Of Worldly Existence And Who Is The Lord Of All The Lokas.


Song : Shantakaram Bhujagasayanam - शान्ताकारं भुजगशयनं
Show:  Mahakaali Anth Hi Aarambh Hai
Singers: Rohit Shastri, Jolly Das Gupta
Music Composer: Jitesh Panchal
Lyrics: Neetu Pandey Kranti
Channel: Colors TV

Shantakaram Bhujagasayanam - शान्ताकारं भुजगशयनं सांग आपके पसंद आये तो अपने स्वजनों के साथ शेयर जरूर करे 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें