Mahakali Anth hi aarambh hai Dialogue | महाकाली अंत ही आरंभ हे

8517
Mahakali Anth hi aarambh hai Dialogue

Mahakali Anth Hi Aarambh Hai Dialogue is from the 2017 mythological show Mahakali Anth Hi Aarambh Hai which aired on Colors TV. Saurabh Raj Jain as Shiva (Mahakaal) Pooja Sharma as Mahakali (Maa Parvati) played the lead roles in the show. The show is produced by Siddharth Kumar Tewary under the Swastik Productions banner. You will find here Dialogue lyrics

Mahakali Anth Hi Aarambh Hai Dialogue Detail :

स्वर / Singerजॉली दास, रोहित शास्त्री (Jolly Das, Rohit Shastri)
धारावाहिक / Serialमहाकाली – अंत ही आरंभ है (Mahakali — Anth Hi Aarambh Hai)
निर्देशक / Directorसिद्धार्थ कुमार तिवारी (Siddharth kumar Tewary)
शैली / Genreपौराणिक कथा (Mythology)
मूल प्रसारण / Original release22 जुलाई 2017 – 5 अगस्त 2018 (22 July 2017 –
5 August 2018)
लेखक / Written byविनोद शर्मा (Vinod Sharma)
Productionस्वास्तिक प्रोडक्शंस (Swastik Productions)
कलाकार / Castपूजा शर्मा, सौरभ राज जैन (Pooja Sharma, Saurabh Raj Jain)
निर्माता / Producersराहुल कुमार तिवारी, गायत्री गिल तिवारी (Rahul Kumar Tewary,
Gayatri Gill Tewary)
सृजनात्मक निर्देशक / Creative directorनितिन मथुरा गुप्ता (Nitin Mathura Gupta)
मूल भाषा / languageहिंदी (Hindi)

Mahakali Anth hi aarambh hai Dialogue in hindi – Mahakali Most Powerful Dialogue Karm Main Moksh Bhi Main

अंत ही आरंभ हे
अ से अंत अ से आरंभ

मोक्ष तू प्रकाश तू
मार्ग तू संसा रक्षक तू

अंत तू आरंभ तू
काली तू महाकाली तू

अत्याचार की ज्वाला में जब जब सृष्टि जली हे
तब तब पार्वती से एक महाकाली जन्मी हे

दिया उसने सृष्टि को अपनी
अपार शक्ति का प्रमाण
जिससे वे खुद थी अनजान

आनंद और आंशु की एक ही राशि हे गौरी
आंनद जब सीमा पार कर जाता हे
तो आँखों में आंशु आ ही जाते हे

नारी बाण हे नारायण और हम प्रत्यंचा
प्रत्यंचा का पीछे हटना आवश्यक हे
उसी प्रकार नारी को अपने बल का भार हो
इसके लिए पुरुष का पीछे हटना आवश्यक हे

नारी अगर शंका त्याग दे तो स्वयं शंकर बन जाती हे
अंत ही आरंभ हे

स्त्री पर जब भी कोई संकट आता हे
तो सदैव पुरुष के पास क्यों चली आती हे
अपनी रक्षा स्वयं क्यों नहीं करती ?

अपमान जब स्त्री का होता हे
तो प्रतिकार स्वयं क्यूँ नहीं लेती

अपना युद्ध स्वयं हे लड़ना होता हे पार्वती
क्यूंकि जो विजय दुसरो की सहायता से मिलें
उसे विजय नहीं दया केहते हे

दीपक सूरज का मार्गदर्शन

कैसे कर सकता हे पार्वती?
तुम शक्ति का महासागर हो
तुम्हारे भीतर छुपे तेज को
तुम्हे खुद ही ढूँढना होगा
फीर जिसे लक्ष्य पाना हो
उसे यात्रा स्वयं करनी पड़ती हे

कौन हु में ? क्या हे मेरा परिचय ?
तुम सब की रक्षक हो पार्वती
एक चेतना हो भक्तो के लिए आशा
और पापियों के लिए चेतावनी हो तुम
शक्ति हो जो काल से परे हे

महाकाल हु में और तुम महाकाली

शक्ति के बिना शिव शव हे
अबला शब्द में बल बहुत हे गौरी
तुम शिव की पत्नी शिव का आधा भाग हो

पति के रूप में महादेव का चयन किया हे गौरी तुमने
उत्तरदायित्व तो उठाना ही होंगा

कल का चयन ही आज का परिणाम बनके
सामने आता हे
चयन का अंत ही परिणाम का आरंभ हे

अविश्वास का अंत ही
आत्मविश्वाश का आरंभ हे

महाकाली अंत ही आरंभ हे – Mahakali Anth hi aarambh hai Dialogue in English

ant hee he shuruaat
ek ant se ek shuruaat

moksh too prakaash too
maarg too sanvaar too

ant too praarambh too
kaalee too mahaakaalee too

atyaachaar kee jvaala mein jab srshti jalee he
tab tab paarvatee se ek mahaakaalee janmee he

diya usane srshti ko apanee
antariksh shakti ka pramaan
jisase ve khud ani the

aanand aur aanshu kee ek hee raashi hai gauree
aand jab seema paar kar jaata hai
to aankhon mein aanshu aa hee jaata hai he

naaree baan he naaraayan aur ham pratyancha
pratyancha ke peechhe hatana chaahie
usee prakaar naaree ko apane bal ka bhaar ho
isake lie purush ke peechhe hatana chaahie

naaree agar shanka tyaag de to svayan shankar ban jaatee he
ant hee he shuruaat

mahilaon par jab bhee koee sankat aata hai to he
to hamesha purush ke paas kyon jaate hain he
apanee suraksha svayan kyon nahin karata ?

upeksha jab stree ka hota hai he
to pratikaar svayan kyoon nahin lenge

apana yuddh svayan hee karata hai, paarvatee
kyoonki jo vijay dusaro kee sahaayata se milate hain
use vijay daya nahin kahate he

deepak sooraj ka maargadarshan

kaise kar sakata hoon he paarvatee?
tum shakti ka mahaasaagar ho
apane andar chhipen ko
tum hee khud jaoge
phir jise lakshy paana ho
use yaatra svayan karane mein he

kaun hoo mein ? mera parichay kya hai ?
tum sab ke rakshak ho paarvatee
ek jaagarook ho bhakto ke lie aasha
aur paapiyon ke lie aapako aagaah kar sakate hain
shakti ho jo kaal se pare he

mahaakaal hu mein aur tum mahaakaalee

shakti ke bina shiv shav he
abala shabd mein bal bahut he gauree
tum shiv kee patnee shiv ka aadha bhaag ho

pati ke roop mein mahaadev ka chayan kiya gaya hai yah gaur karane yogy kaam
uttaradaayitv to uthaana hee hoga

kal ka chayan hee aaj ka parinaam banake
he saamane aata hai
chayan ka ant hee parinaam kee shuruaat hai

avishvaas ka ant hee
aatmavishvaash kee shuruaat he

Sr No.Serial NameSong Name
1Radhakrishna all Song lyricsराधाकृष्ण के सारे गाने
2Ramayan all Song lyricsरामायण के सारे गाने
3Mahakali – Anth Hi Aarambh Hai all songमहाकाली अंत ही आरंभ हे के सारे गाने
4Devon Ke Dev Mahadev all Song lyricsदेवों के देव महादेव के सारे गाने
5Mahabharat all Song lyricsमहाभारत के सारे गाने

अ से अंत अ से आरंभ – Mahakali Anth hi aarambh hai Dialogue

YouTube Video : श्रीगणेश और परशुराम में युद्ध

“महाकाली अंत ही आरंभ है” टेलीविजन शो है। यह मां काली के महाकाव्यिक रूप को दर्शाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह वाक्य आध्यात्मिक और धार्मिक भावनाओं को प्रकट करता है, जहां दुनिया का अंत और आरंभ महाकाली से जुड़े होते हैं। इस वाक्य का मतलब है कि अंत और आरंभ एक दृष्टिकोण से देखे जा सकते हैं और दोनों एक ही विद्यमान हैं।

Mahakali Most Powerful Dialogue Karm Main Moksh Bhi Main

  • पूजा शर्मा : देवी महाकाली, पार्वती के किरदार में
  • सौरभ राज जैन : भगवान शिव, महाकाल, वीरभद्र , भैरव के किरदार में
  • कानन मल्होत्रा : भगवान विष्णु, भगवान कृष्ण के किरदार में
  • निकिता शर्मा : देवी लक्ष्मी के किरदार में
  • मेघन जाधव : भगवान कार्तिकेय के किरदार में
  • कृष चौहान : भगवान श्री गणेश के किरदार में
  • अभिषेक अवस्थी : नंदी के किरदार में
  • मनीष बिशला : देव-राज इंद्र के किरदार में
  • देबिना बनर्जी और रिंपी दास : देवी गंगा के किरदार में
  • फलक नाज़ : देवी सरस्वती के किरदार में

अंतिम बात :

आज भी लोग महाकाली – अंत ही आरंभ है के सारे गाने को बहुत पसंद करते है। मैंने अपनी तरफ से पूरी कोसिस की है आपको इस आर्टिक्ल से सही जानकारी मिले सके हमे उम्मीद हे कि माँ दुर्गा के भक्तो को महाकाली – अंत ही आरंभ है सीरियल का लिरिक्स पसंद आया होगा

दोस्त! अगर आपको “Mahakali Anth Hi Aarambh Hai Dialogue” महाकाली – अंत ही आरंभ है वाला यह आर्टिकल पसंद है तो कृपया इसे अपने दोस्तों को सोशल मीडिया जैसे कि Facebook, Whatsapp, twitter इत्यादि पर शेयर करना न भूलें। आपका एक शेयर हमें आपके लिए नए गाने के बोल लाने के लिए प्रेरित करता है

अगर आप अपने किसी पसंदीदा गाने के बोल चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बेझिझक बताएं हम आपकी ख्वाइस पूरी करने की कोशिष करेंगे धन्यवाद!
🙏 जय महाकाली 🙏