Breaking

शुक्रवार, 30 अप्रैल 2021

श्री कृष्णा डायलॉग | Shree Krishna Dialogue 29

Shree Krishna Dialogue Status 29। श्री कृष्ण डायलॉग l श्री कृष्ण

"जो हमें निरंतर ध्याएगा वो हमें पाएगा अवश्य
परंतु ये भी याद रखो की इसमें एक गुड़ अंतर है
जो जिस भाव से हमें ध्याता है हम उसी रूप में उसे प्राप्त होते हैं
हमारा रूप सब के लिए एक सा है
उसी रूप को देख कर जहाँ भक्त और देवता आनंद से गदगद हो जाते हैं
वहाँ उसी रूप को देख कर कंस भय के मारे तब तड़प जाता है
क्योंकि उस रूप में उसे भगवान नहीं शत्रु दिखायी देता है।"
Krishna Dialogue 29
"jo hamen nirantar dhyaega vo hamen paega avashy
parantu ye bhee yaad rakho kee isamen ek gud antar hai
jo jis bhaav se hamen dhyaata hai ham usee roop mein use praapt hote hain
hamaara roop sab ke lie ek sa hai
usee roop ko dekh kar jahaan bhakt aur devata aanand se gadagad ho jaate hain
vahaan usee roop ko dekh kar kans bhay ke maare tab tadap jaata hai
kyonki us roop mein use bhagavaan nahin shatru dikhaayee deta hai."

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें