Breaking

शुक्रवार, 30 अप्रैल 2021

श्री कृष्णा डायलॉग | Shree Krishna Dialogue 25

Shree Krishna Dialogue Status 25। श्री कृष्ण डायलॉग  श्री कृष्ण

"अयोध्या, अवंतिका, मायापुरी, काशी आदि जो सात मोक्षदायनी पुरियाँ हैं
उनमें एक मथुरा नगरी भी है इसीलिए इस पवित्र धरती को प्रणाम कीजिए
इस नगरी को मदुरा नाम के एक राक्षस ने बसाया था
शिवजी का बड़ा परम भक्त था वो उसी के नाम से ये पहले मदुरा और फिर मथुरा नगरी कहलाने लगी है
वस्तुतः यह पुण्य धरती भक्तराज ध्रुव की तपोभूमि है
यहाँ उस महान बालक ने ऐसी घोर तपस्या की थी की स्वयं भगवान को
अपने चतुर्भुज रूप में उनके सामने प्रकट होना पड़ा था
इसीलिए इस धरती के कान कान में एक दैव्य आभास है।"
श्री कृष्णा डायलॉग | Shree Krishna Dialogue 25
"ayodhya, avantika, maayaapuree, kaashee aadi jo saat mokshadaayanee puriyaan hain
unamen ek mathura nagaree bhee hai iseelie is pavitr dharatee ko pranaam keejie
is nagaree ko madura naam ke ek raakshas ne basaaya tha
shivajee ka bada param bhakt tha vo usee ke naam se ye pahale madura aur phir mathura nagaree kahalaane lagee hai
vastutah yah puny dharatee bhaktaraaj dhruv kee tapobhoomi hai
yahaan us mahaan baalak ne aisee ghor tapasya kee thee kee svayan bhagavaan ko
apane chaturbhuj roop mein unake saamane prakat hona pada tha
iseelie is dharatee ke kaan kaan mein ek daivy aabhaas hai."


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें