Breaking

बुधवार, 31 मार्च 2021

श्री कृष्णा डायलॉग | Shree Krishna Dialogue 18

Shree Krishna Dialogue Status 18। श्री कृष्ण डायलॉग l श्री कृष्ण


"शरीर की कुरूपता और सुंदरता प्राणी के अपने कर्मों के अनुसार होती है
ये सदा नहीं रहती ना ही सुंदरता सदा रहती है और ना ही कुरूपता सदा रहती है
बुढ़ापे में एक सुंदर शरीर भी मुरझा जाता है
जब कर्मों का समय बदलता है और पुण्य कर्म उदय होते हैं
तब एक कुरूप शरीर भी कमल की भाँति सुंदर लगने लगता है।"
श्री कृष्णा डायलॉग | Shree Krishna Dialogue 18
"shareer kee kuroopata aur sundarata praanee ke apane karmon ke anusaar hotee hai
 ye sada nahin rahatee na hee sundarata sada rahatee hai aur na hee kuroopata sada rahatee hai
 budhaape mein ek sundar shareer bhee murajha jaata hai
 jab karmon ka samay badalata hai aur puny karm uday hote hain
 tab ek kuroop shareer bhee kamal kee bhaanti sundar lagane lagata hai."

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें