Update

Monday, December 4, 2017

Shiv Parvati Marriage Theme Lyrics | महाकाली अंत ही आरंभ है

Shiv Parvati Marriage Theme Lyrics

गिरिजा में उर्जा शिव से है
गोरी से शिव में शक्ति है
यह दो नहीं है एक है
अनुभूति सम अभिव्यक्ति है

हर सांस शिव के नाम है
यह प्रेम भी  अविराम है
शिव धैर्य तो सयंम शिवा
हे शिवम् ही शिव सत्यम शिवा

कोई तोड़ ना है बिछोह का
नाही मोल मन के मोह का
कोई तोड़ ना है बिछोह का
नाही मोल मन के मोह का

आ आ आ आ .... 

मेरी अर्धांगिनी मेरी गौरी 

महाकाल की महाकालिका 
परमेश्वरी पथपालिका 
अब तक स्वयं से दुर है
यही शक्ति तो सम्पूर्ण हे 

यही शक्ति तो सम्पूर्ण हे
यही शक्ति तो सम्पूर्ण हे
यही शक्ति तो सम्पूर्ण हे

   

No comments:

Post a Comment