Update

शनिवार, 19 दिसंबर 2020

Purn Chandra Maharaas Lyrics - पूर्णचन्द्र महारास Lyrics

Purn Chandra Maharaas Lyrics:

पूर्णचन्द्र उज्ज्वल निशा
चहुँ दिशि उल्हास
मधुवन के कण कण में है
थिरक रहा महारास

राधा कृष्णा, राधा कृष्णा
Purn Chandra Maharaas Lyrics


आज धरा नीज भाग्य पे देखो
जाये स्वयं ही वारि
जमुना जी की तट की सुंदर
छटा आज है न्यारी
मंद सुगंधित पवन चले
देखो होकर मतवारी
राधा के संग रास रचाए
कान्हा कुंज बिहारी
राधा कृष्णा, राधा कृष्णा

प्रेम रूप धरकर आए हैं
देखो प्रेम पुजारी
मोर मुकुट पीतांबर साजे
मनभावन छवि प्यारी
हो स्वर्ग उतर आया धरती पर
सृष्टि है आभारी
कण कण बोले जय मुरलीधर
जय वृषभान दुलारी

राधा राधा राधा राधा
कृष्णा कृष्णा कृष्णा (×2)

राधा कृष्णा, कृष्णा राधा

हर गोपी के ध्यान में कान्हा
तन मन जीवन प्राण में कान्हा
प्रेम की ये पावन रंग में डूबे
देखो धरती और ये गगन है
गगन है, गगन है

महारास की पावन बेला
तीन लोक से न्यारी
हर गोपी कान्हा में डूबे
भूल के सुध-बुद्ध सारी
हो अद्भुत है ये क्षण
इसकी है छवि मधुर मनहारी
कण कण बोले जय मुरलीधर
जय वृषभान दुलारी

राधा राधा राधा राधा
कृष्णा कृष्णा कृष्णा (×2)

राधा कृष्णा, कृष्णा राधा



राधाकृष्ण सीरियल का गाना Purn Chandra Maharaas Lyrics को गाने वाली गायिका का नाम ऐश्वर्या आनंद है। ओ कान्हा ओ कृष्णा पूर्णचन्द्र महारास लिरिक्स अस्तित्व जी ने लिखा है। इस मधुर संगीत को तैयार करने वाले संगीतकार का नाम सूर्य राजकमल है। 


Singer: मोहित मिश्रा, गुल सक्सेना
Lyrics: विकास चौहान
Music: सूर्यराज कमल
Serial: राधाकृष्ण
Casting: सुमेध मुद्गलकर, मल्लिका सिंह
Label: स्टार भारत
Song - पूर्णचन्द्र महारास (Purn Chandra Maharaas Lyrics)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें