Update

Tuesday, August 4, 2020

वैष्णो देवी गुफा के दंग कर देने वाले रहस्य

वैष्णो देवी गुफा के दंग कर देने वाले रहस्य

त्रिकुटा की पहाड़ियों पर स्थित एक गुफा में माता वैष्णो देवी की स्वयंभू तीन मूर्तियां हैं।गुफा को गर्भजून के नाम से जाना जाता है
देवी काली (दाएं), सरस्वती (बाएं) और लक्ष्मी (मध्य), पिण्डी के रूप में गुफा में विराजित हैं। इन तीनों पिण्डियों के सम्मि‍लित रूप को वैष्णो देवी माता कहा जाता है। इस स्थान को माता का भवन कहा जाता है माता के ये इन तीन पिंड आदिशक्ति के तीन रूप माने जाते हैं

माता रानी भगवान विष्णु के अंश से उत्पन्न हुई थीं इसलिए माता का एक नाम देवी त्रिकुटा भी है



माता वैष्णवी ने महाकाली का रूप लेकर भैरवनाथ का संहार कर दिया। भैरवनाथ का सिर कटकर भवन से 8 किमी दूर त्रिकूट पर्वत की भैरव घाटी में गिरा। उस स्थान को भैरोनाथ के मंदिर के नाम से जाना जाता है। जिस स्थान पर माँ वैष्णो देवी ने हठी भैरवनाथ का वध किया, वह स्थान पवित्र गुफा’ अथवा ‘भवन के नाम से प्रसिद्ध है

No comments:

Post a Comment

Auto